Hindi Version

 

 
   English ( PDF / Word file )
   Hindi ( PDF / Word file )
   
 
   English ( PDF / Word file )
   Hindi ( PDF / Word file )

About Paryavaran Mitra Puraskar

Paryavaran Mitra Puraskar (Awards) has been initiated by CEE as part of its Paryavaran Mitra initiative. The award aims to recognize the exemplary leadership shown by schools, teachers and students in encouraging Handprint actions. This is an annual award process, which invites entries from schools, teachers, students on the basis of the criteria (benchmarks) that focuses on encouraging schools, teachers and students to reflect and see the teaching and learning process from a competency perspective.

Paryavaran Mitra Puraskar 2021

Due to covid situation since 2020, schools were required to change their normal teaching learning processes and have moved to online platforms. CEE has been working with schools, teachers and students to implement several initiatives focused on EE and ESD where students have taken exemplary Handprint actions in guidance of their teachers and support from the schools. Recognizing this fact, CEE is announcing call for entries for Paryavaran Mitra Puraskar for year 2021.

Categories

School Award

This award is for schools that have shown Exemplary leadership in encouraging Handprint actions at school level engaging its stakeholders. The Puraskar every year sees entries from a variety of schools from all over India who have provided immense support to teachers to give their students real life experiences, evident in the classroom activities and action projects teachers have been able to design showing clear curriculum linkages across subjects and benefits to the community and the environment.

Teacher Award

Teachers reflect on their teaching practices and what their students are learning through project based learning. Teacher report on the handprint actions, which present examples of how project based learning, has been applied by establishing curricular linkages across subjects. They have worked to make the school environment a living learning space for their students with support from the school management, teachers, non-teaching staff, and parents.

Student Award

Student’s engagement to understand environment and sustainability concerns and initiation of Handprint action is an important step in project-based learning. For this award, students reflect on their work and the skills they gained for life while doing these projects.

Eligibility and Evaluation Criteria

Teachers and students across India can send their entries for the PM Puraskar 2021 through their schools. The schools must be enrolled in any of the programmes linked to Paryavaran Mitra Initiatives.

The applications will be considered for the work done during the period of 2019-2021 by lead student/teacher on any theme/subject related to Handprint actions taken towards restoration/conservation of nature and natural resources. The work/project should be connected with the sustainability education and reflects tangible results and concrete learning outcomes. The applicant should enclose the relevant evidences of their project/activities in the form of photos/videos as annexures and attach with the application. Please affirm with the word limit mentioned in the format. Download English or Hindi format in word or pdf document for filling and submitting your application and reporting.

Applicants need to fill and submit prescribed application and reporting format in soft copy on this link by 30 November 2021.

Evaluation Criteria

The evaluation will be done based on the following points, which are included in the PM Puraskar Application and Reporting format.

Student Category 

Evaluation Points

Total Marks (100)
Issue identification and in-depth inquiry 15
Understanding of the content in the project area 10
Dealing with COVID 19 Challenges 5
Subject linkage and target audience 20
Understanding the problem and planning the project 10
Linkages/extension of classroom learning 5
Outreach of the action project 5
Implementation Methodology 30
Process adapted to address the issues 10
Clear action component 10
Resources/media used & new resources developed 5
Managing the challenges 5
Tangible results of the project and major achievements 15
Learning outcomes 10
Future prospects of sustenance of the activities 10

 

 Teachers Category

Evaluation Points  Total Marks (100)
Issue identification and in-depth inquiry 15
Understanding of the content in the project area 10
Dealing with COVID 19 Challenges 5
Subject linkage and target audience 15
Understanding the problem and planning the project 5
Linkages/extension of classroom learning 5
Outreach of the action project 5
Implementation Methodology 35
Process adapted to address the issues 10
Clear action component 10
Resources/media used & new resources developed 5
Managing the challenges 5
Progress monitoring 5
Tangible results of the project and major achievements 10
Learning outcomes 15
Future prospects of sustenance of the activities 10

 

 


 

 

 

पर्यावरण मित्र पुरस्कार के बारे में

 

इस पुरस्कार की शुरुआत पर्यावरण शिक्षण केंद्र- CEE द्वारा पर्यावरण मित्र कार्यक्रम के एक हिस्से के रूप में की गयी है। पुरस्कार का उद्देश्य स्कूलों, शिक्षकों और छात्रों द्वारा हैंडप्रिंट गतिविधियों को प्रोत्साहित करने के लिए किये गए सकारात्मक प्रयासों और नेत्रित्व को पुरस्कृत करना है। यह पुरस्कार हेतु नामांकन की एक वार्षिक प्रक्रिया है, जिसमे निर्धारित मानदंड के आधार पर स्कूलों, शिक्षकों, छात्रों से प्रविष्टियां आमंत्रित की जाती हैं। यह प्रक्रिया स्कूलों, शिक्षकों और छात्रों को शिक्षण और सीखने-सिखाने की प्रक्रिया को प्रतिस्पर्धा पूर्ण  दृष्टिकोण से देखने के लिए प्रोत्साहित करती है

 
   English ( PDF / Word file )
   Hindi ( PDF / Word file )
   
 
   English ( PDF / Word file )
   Hindi ( PDF / Word file )

 

पर्यावरण मित्र पुरस्कार 2021

वर्ष 2020 से कोविड परिस्स्थितियों को ध्यान में रख कर विद्यालयों को अपनी सामान्य शिक्षण प्रक्रियाओं को बदलने की आवश्यकता पड़ी और उन्होंने शिक्षण के ऑनलाइन माध्यम को अपनाया है। सी.ई.ई. अपनी विभिन्न पर्यावरणीय शिक्षा और टिकाऊ विकास हेतु शिक्षा परियोजनाओं के क्रियान्वन के लिए उन विद्यालयों, शिक्षकों और छात्रों के साथ काम करता है जहाँ छात्रों ने शिक्षकों के नेतृत्व में विद्यालय के सहयोग से अद्वितीय हैण्डप्रिंट गतिविधियों को क्रियान्वित किया है। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए, सीईई वर्ष 2021 के लिए पर्यावरण मित्र पुरस्कार हेतु प्रविष्टियों के आमंत्रण की घोषणा कर रहा है। 

श्रेणियां

स्कूल पर्यावरण मित्र पुरस्कार  

यह पुरस्कार उन विद्यालयों के लिए है जिन्होंने अपने हितधारकों को शामिल करते हुए विद्यालय स्तर पर हैंडप्रिंट गतिविधियों को प्रोत्साहित करने में उत्कृष्ट नेतृत्व को प्रदर्शित किया है। इस पुरस्कार हेतु प्रत्येक वर्ष  सम्पूर्ण भारत के उन विद्यालयों से प्रविष्टियां मागी जाती हैं जिन्होंने शिक्षकों को अपने छात्रों को वास्तविक जीवन के अनुभव देने के लिए प्रक्रिया को सुलभ बनाया हो। विद्यालय द्वारा बनाये गए सुलभ माहौल में शिक्षक अपने शिक्षण पाठ्यक्रम के साथ परियोजना विषयों को शामिल करते हुए पठन-पाठन और कार्यवाही परियोजनाओं की स्पष्ट योजना बनाते हैं और समुदाय तथा पर्यावरण को लाभान्वित करते हैं।    

शिक्षक पर्यावरण मित्र पुरस्कार 

शिक्षक अपने पठन-पाठन और परियोजना आधारित शिक्षा के माध्यम से, छात्र क्या सीख रहे हैं, इस बात को प्रदर्शित करते हैं। शिक्षक अपनी हैंडप्रिंट गतिविधियों पर आधारित रिपोर्ट भेजते हैं जिसमें वे उन उदाहरणों को प्रदर्शित करते हैं जिनके माध्यम से उन्होंने अपने पठन-पाठन विषयों को हैंडप्रिंट गतिविधियों से जोड़ा है एवं  उन्होंने विद्यालय प्रबंधन, शिक्षकों, गैर-शिक्षण कर्मचारियों और माता-पिता के सहयोग से अपने विद्यालय के माहौल को छात्र-छात्राओं के लिए सीखने-सिखाने की जगह के रूप में बनाया है। 

छात्र पर्यावरण मित्र पुरस्कार

सीखने-सिखाने की प्रक्रिया में छात्रों द्वारा पर्यावरण और टिकाऊ विकास से जुड़े सरोकारों को समझ कर हैंडप्रिंट गतिविधियों को शुरु करना परियोजना-आधारित शिक्षा का एक महत्वपूर्ण कदम है। इस पुरस्कार के लिए, छात्र अपने काम और इन गतिविधियों के दौरान अर्जित जीवन के कौशल, जिन्हें उन्होंने परियोजना के क्रियान्वयन के दौरान सीखा है, को दर्शाते हैं। 

पात्रता और मूल्यांकन के मापदंड

सम्पूर्ण भारत के शिक्षक और छात्र अपने विद्यालयों के माध्यम से पीएम पुरस्कार 2021 हेतु अपनी प्रविष्टियां भेज सकते हैं। पुरस्कार हेतु नामांकन भेजने वाले विद्यालयों को पर्यावरण मित्र पहल के अंतर्गत क्रियान्वित किसी भी कार्यक्रम में नामांकित होना चाहिए। 

पुरस्कार हेतु वर्ष 2019-2021 की अवधि के दौरान नेत्रत्वकर्ता छात्रों/शिक्षकों द्वारा प्रकृति और प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण से सम्बंधित मुद्दों पर किए गए हैण्डप्रिंट कार्यों से सम्बंधित आवेदनों पर विचार किया जाएगा। आपकी गतिविधियाँ/परियोजना टिकाऊ विकास हेतु शिक्षा से सम्बद्ध होनी चाहिए और ये स्पष्ट नतीजों और सीखने के ठोस परिणामों को दर्शाती हों । 

आवेदक को अपनी परियोजना/गतिविधियों से जुड़े साक्ष्यों को अपने आवेदन के साथ संलग्नक के रूप में भेजना चाहिए। आवेदन प्रपत्र भरते समय कृपया प्रारूप में दर्शाई गयी शब्द सीमा को ध्यान में रखे। यहाँ दिए गए अंग्रेजी या हिंदी आवेदन प्रारूप में से वर्ड या पी डी ऍफ़ डॉक्यूमेंट को भर कर अपने आवेदन और रिपोर्ट को निर्धारित प्रारूप में भर कर  ऑनलाइन इस लिंक पर 30 नवम्बर 2021 तक जमा करें।   

मूल्यांकन का पैमाना

मूल्यांकन निम्नलिखित बिंदुओं के आधार पर किया जाएगा, जो पीएम पुरस्कार के आवेदन और रिपोर्टिंग प्रारूप में शामिल हैं। 

छात्र श्रेणी 

मूल्यांकन के बिंदु

कुल अंक (100)

समस्या की पहचान और गहन जांच-पड़ताल

15

क्षेत्र की समस्याओं और परियोजना के उद्देश्यों की समझ और गहन जानकारी

10

कोविड 19 महामारी से जुड़ी चुनौतियों से निपटना

5

विषय से सम्बंध और लक्ष्य समूह

20

समस्या की समझ और परियोजना का नियोजन

10

कक्षा आधारित पठन-पाठन का परियोजना से जुड़ाव/विस्तार   

5

गतिविधि परियोजना की पहुँच

5

क्रियान्वयन विधि

30

समस्या को हल करने के लिए अपनाई गई प्रक्रिया

10

स्पष्ट कार्रवाही योजना

10

उपयोग किए गए संसाधन/मीडिया और विकसित किये गए नवीन संसाधन

5

चुनौतियों का समाधान

5

परियोजना के ठोस परिणाम और प्रमुख उपलब्धियां

15

परियोजना से प्राप्त सीख

10

गतिविधियों को भविष्य में भी जारी रखने की योजना

10

 

 

शिक्षक श्रेणी

मूल्यांकन बिंदु

कुल अंक (100)

समस्या की पहचान और गहन जांच-पड़ताल

15

परियोजना क्षेत्र की समस्याओं की समझ और गहन जानकारी

10

कोविड 19 महामारी से जुड़ी चुनौतियों से निपटना

5

विषय से सम्बंध और लक्ष्य समूह

15

समस्या की समझ और परियोजना का नियोजन

5

कक्षा आधारित पठन-पाठन का परियोजना से जुड़ाव/विस्तार   

5

गतिविधि परियोजना की पहुँच

5

क्रियान्वयन विधि

35

समस्या को हल करने के लिए अपनाई गई प्रक्रिया

10

स्पष्ट कार्रवाही योजना

10

उपयोग किए गए संसाधन/मीडिया और विकसित किये गए नवीन संसाधन

5

चुनौतियों का समाधान

5

प्रगति की निगरानी

5

परियोजना के ठोस परिणाम और प्रमुख उपलब्धियां

10

परियोजना से प्राप्त सीख

15

गतिविधियों को भविष्य में भी जारी रखने की योजना

10

 


CMS Development & SEO : Infilon Technologies Pvt. Ltd. Copyright © 2019 Centre for Environment Education. All rights reserved.